कृषि प्रौधोगिकी प्रबंध अभिकरण (आत्मा), सीतामढ़ी उन प्रमुख भागीदारों की संस्था है जो जिला स्तर पर कृषि के विकास को स्थायित्व प्रदान करने संबंधी कृषि की गतिविधियों में संलग्न है। यह एक स्वायत पंजीकृत संस्था है, जो जिला स्तर पर प्रौधोगिकी प्रसार के लिए उत्तरदायी है। हमारा निबंधन संख्या 1648 वर्ष 2007-08 है।
  लक्ष्य एवं उद्देश्य
(1) कृषि प्रसार के सबलीकरण हेतु नये संगठनात्मक स्वरूप का निर्माण करना।
(2) विभिन्न विभागों, एजेन्सी एवं निजी कम्पनियों, गैर सरकारी संगठनों, कृषक संगठन इत्यादि द्वारा चलाये जा रहे कृषि प्रसार की गतिविधियों में समन्वय स्थापित कर प्रसार की प्रक्रिया में एकीकरण लाना जिससे लोक-निजी-साझेदारी को बढ़ावा मिल सके।
(3) प्रसार कार्यक्रमों में सुदृढ़ीकरण लाने हेतु विभिन्न कृषि प्रणाली को ध्यान में रखते हुए व्यापक प्रसार गतिविधि को स्थापित करना।
(4) कृषि प्रसार के लिए कृषक समूहों अथवा संगठनों का क्षमता सम्बर्द्धन करना।
(5) कृषि में जेन्डर संवेदनशीलता को ध्यान में रखते हुए महिला कृषकों के क्षमता सम्बर्द्धन एवं सबलीकरण पर कार्य करना।
(6) प्रसार कार्यक्रमों में वित्तीय स्थायित्व के लिए प्रयास करना।
   सीतामढ़ी आत्मा के कार्यक्रम
1. कृषक प्रशिक्षण कार्यक्रम।
2. कृषकों की दक्षता विकास हेतु भ्रमण का आयोजन।
3. कृषक- वैज्ञानिक मिलन।
4. ‘कृषक गोष्ठी’ एवं ‘क्षेत्र दिवस’ का आयोजन।
5. कृषक हितार्थी समूहों का गठन एवं क्षमता सम्बर्द्धन।
6. अग्रिम पंक्ति प्रत्यक्षण कार्यक्रम।
7. फार्म स्कूल की स्थापना।
8. किसान मेला का आयोजन।
9. उपयोगी कृषि साहित्य का प्रकाशन।
10. कृषि से संबंधित सफलता की कहानियों का प्रकाशन एवं प्रसार।
11. कृषि क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी को प्रोत्साहित करना।
12. कृषि के सर्वांगीण विकास हेतु निजी क्षेत्रों की भागीदारी बढ़ाना।
13. ‘अनुसंधान-प्रसार-कृषक-बाजार’ कड़ी के सबलीकरण की दिशा में कदम उठाना।
Copyright © 2012 ATMA Sitamadhi, Bihar. All rights reserved.
Designed by : Dimensionwebsoft Pvt. Ltd.